THE NEWSZON

ज़िद ! सच दिखाने की

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह पुलिस हिरासत में, बागी कांग्रेसी विधायकों से मिलने पहुंचे थे

बेंगलुरु: बागी कांग्रेसी विधायकों से मिलने पहुंचे दिग्विजय सिंह धरने पर बैठे, हिरासत में लिए गए

बेंगलुरु: बागी कांग्रेसी विधायकों से मिलने पहुंचे दिग्विजय सिंह धरने पर बैठे, हिरासत में लिए गए

बेंगलुरु: बागी कांग्रेसी विधायकों से मिलने पहुंचे दिग्विजय सिंह धरने पर बैठे, हिरासत में लिए गए

Karnataka: Congress leader Digvijaya Singh has now been placed under preventive arrest. He was sitting on dharna near Ramada hotel in Bengaluru, allegedly after he was not allowed by Police to visit it. 21 #MadhyaPradesh Congress MLAs are lodged at the hotel.

मध्य प्रदेश की राजनीति में बीते कई दिनों से मची उथल-पुथल के बीच कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह आज अल सुबह बेंगलुरु के होटल में मौजूद बागी मध्य प्रदेश के विधायकों से मुलाकात करने पहुंचे गए। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को होटल के भीतर दाखिल नहीं होने दिया गया, जिसके बाद कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह बाहर ही धरने पर बैठ गए। हालांकि, पुलिस ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को हिरासत में ले लिया है।

मैं मध्य प्रदेश से कांग्रेस का राज्यसभा उम्मीदवार हूं

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह बेंगलुरु के रमाडा होटल पहुंचे थे। इसी होटल में मध्य प्रदेश कांग्रेस के 21 बागी विधायक हैं। पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि विधायक उनसे बात करना चाहते हैं। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘मैं मध्य प्रदेश से कांग्रेस का राज्यसभा उम्मीदवार हूं। 26 मार्च को वोटिंग होनी है। हमारे विधायकों को यहां रखा गया है। वह मुझसे बात करना चाहते हैं। लेकिन उनके मोबाइल फोन को छीन लिया गया है।’

होटल के बाहर कांग्रेस पार्टी समर्थकों के साथ धरने पर बैठे दिग्विजय सिंह

कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार दिग्विजय सिंह ने कहा कि पुलिस विधायकों से मुलाकात नहीं करने दे रही है और कह रही है कि उनकी सुरक्षा को खतरा है। होटल के बाहर कांग्रेस पार्टी समर्थकों के साथ धरने पर बैठे दिग्विजय सिंह को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

कोरोना वायरस का हवाला देते हुए स्पीकर ने सदन की कार्यवाही को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी

बता दें कि मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने कुछ दिन पहले कमलनाथ सरकार को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट कराने को कहा था। हालांकि, इसके बाद कोरोना वायरस का हवाला देते हुए स्पीकर ने सदन की कार्यवाही को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी थी। इसके बाद फिर से राज्यपाल ने फ्लोर टेस्ट कराने के निर्देश दिए, जिसे कमलनाथ सरकार ने बागी विधायकों को छुड़ाए जाने तक कराने से इंकार कर दिया।

अपने ही बागी विधायकों से संपर्क के लिए SC पहुंची कांग्रेस

कांग्रेस अपने ही बागी विधायकों से संपर्क कायम कराने के लिए मंगलवार को शीर्ष न्यायालय पहुंच गई। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने अपनी याचिका में न्यायालय से उसके विधायकों को बेंगलुरु में गैरकानूनी तरीके से बंधक बनाए जाने की केंद्र, कर्नाटक सरकार और प्रदेश की भाजपा इकाई की कार्रवाई को गैरकानूनी घोषित करने का आग्रह किया गया है।

बेंगलुरू: रमाडा होटल के बाहर धरने पर बैठे कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह की निवारक (प्रिवेंटिव) गिरफ्तारी कर ली गई।

राज्य सरकार को तुरंत बहुमत साबित करने का निर्देश

उच्चतम न्यायालय ने मध्य प्रदेश विधानसभा में तत्काल शक्ति परीक्षण कराने संबंधी याचिका पर कमलनाथ सरकार से बुधवार तक जवाब मांगा है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ओर से दायर इस याचिका में अदालत से अनुरोध किया गया है कि वह राज्य सरकार को तुरंत बहुमत साबित करने का निर्देश दे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *