THE NEWSZON

ज़िद ! सच दिखाने की

खबर का असर : मवाना खुर्द में बच्चों से कूड़ा डलवाने के मामले में शिक्षिका निलंबित

जांच के दौरान बच्चों ने मिड डे मील मेन्यू के अनुसार नहीं मिलने की शिकायत की। रिपोर्ट के आधार पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सतेंद्र ढाका ने मुख्य शिक्षिका रीता को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।

मवाना खुर्द में बच्चों से कूड़ा डलवाने के मामले में खबर का असर हुआ है जिसमे शिक्षिका को निलंबित कर दिया गया है। न्यूज़ ज़ोन ने 2 दिन पूर्व इस खबर को प्रमुखता से उठाया था। ये थी खबर ….

मवाना खुर्द प्राइमरी स्कूल में बच्चों द्वारा कराई जा रही सफाई की वीडियो वायरल

मेरठ। मवाना खुर्द स्थित प्राइमरी पाठशाला नं. एक में शनिवार आठ फरवरी को बच्चों से सफाई कराने और कूड़ा हाईवे 119 के पारकर दूसरी ओर डलवाने के मामले में सोमवार को खंड शिक्षा अधिकारी ने स्कूल पर पहुंचकर जांच की। उन्होंने जांच के बाद जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को मुख्य शिक्षिका के निलंबन की रिपोर्ट भेज दी है। रिपोर्ट के आधार पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सतेंद्र ढाका ने मुख्य शिक्षिका रीता को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। इससे पहले इसी स्कूल में ऐसी घटना छह जुलाई 2019 को हुई थी, उस दौरान भी अफसरों ने कार्रवाई करते हुए प्रभारी शिक्षिका गति अग्रवाल को निलम्बित किया था।

बच्चे जान जोखिम में डाल हाईवे के दूसरी ओर कूड़ा डालने गए

मेरठ-मवाना हाईवे स्थित मवाना खुर्द में प्राइमरी पाठशाला नं. एक है। आठ फरवरी को पाठशाला में तैनात शिक्षिकाओं ने स्कूली बालकों से परिसर की सफाई कराई और कूड़े को हाईवे के दूसरी ओर डालने के लिए भेज दिया। बच्चे जान जोखिम में डाल हाईवे के दूसरी ओर कूड़ा डालने गए थे। ग्रामीणों ने शिकायत कर कहा था कि हाईवे पर वाहनों का रैला आता रहता है, ऐसे में यदि कोई अप्रिय घटना हो जाए तो इसके जिम्मेदार कौन होंगे, शिक्षक या सरकार।

हाईवे को पारकर बालकों से कूड़ा डलवाना गलत

मामले की जांच करने सोमवार को खंड शिक्षा अधिकारी ध्यान चंद स्कूल पहुंचे और आठ फरवरी को स्कूल में तैनात मुख्य शिक्षिका रीता व रफत से जानकारी की। खंड शिक्षा अधिकारी ध्यान चंद ने बताया कि बालकों से सफाई कराना और हाईवे को पारकर बालकों से कूड़ा डलवाना गलत है।

दोनों मामलों में मुख्य शिक्षिका रीता को दोषी

खंड शिक्षा अधिकारी ने बालकों से बातचीत की। स्कूल में मौजूद बालकों ने बताया कि उन्हें मेन्यू के अनुसार मिड डे मील नहीं दिया जा रहा है। सोमवार को फल व बुधवार को दूध देने का मेन्यू है। बच्चों ने बताया कि उन्हें फल खराब दिए जाते हैं। खंड शिक्षा अधिकारी ने दोनों मामलों में मुख्य शिक्षिका रीता को दोषी पाते हुए निलम्बन की कार्रवाई करने की रिपोर्ट बीएसए को भेज दी है। दूसरी शिक्षिका रफत को भी बालकों से सफाई नहीं कराने की चेतावनी दी गई है।

शिक्षिका गति अग्रवाल को निलम्बित किया गया था

एबीएसए की जांच रिपोर्ट के आधार पर उन्होंने मुख्य शिक्षिका रीता को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया है। ऐसे ही मामले में छह जुलाई 2019 को प्रभारी शिक्षिका गति अग्रवाल को निलम्बित किया गया था। उन्होंने शिक्षिकाओं को बालकों से सफाई नहीं कराने की चेतावनी दी गई थी।

न्यूज़ ज़ोन (NEWSZON) से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें . Email: thenewszon@gmail.com , न्यूज़ व विज्ञापन के लिए संपर्क करे 99978263339084998633

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2019 thenewszon.com All rights reserved. | Newsphere by AF themes.